Home Business किसानों को सरकार देगी 15 लाख रुपए, कैसे मिलेगा यह और क्या...

किसानों को सरकार देगी 15 लाख रुपए, कैसे मिलेगा यह और क्या है प्रोसेस, जानिए इस एफपीओ योजना के बारे में


  • Hindi News
  • Business
  • Government Will Give 15 Lakh Rupees To Farmers, How Will It Get And What Is The Process, Know About This FPO Scheme

मुंबई30 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

देश के सभी राज्यों के किसानों को इसका लाभ मिलेगा। आप चाहे किसी भी राज्य में हों, संगठन बना सकते हैं

  • सरकार इस योजना पर 2024 तक 6,865 करोड़ रुपए खर्च करेगी
  • किसानों को बिचौलियों से मुक्त करने की योजना सरकार की है

सरकार ने किसानों को बड़ा तोहफा देने की घोषणा की है। अब किसानों को 15 लाख रुपए तक मिल सकेंगे। हालांकि इसे पाने के लिए कई सारी शर्तें हैं और आपको इसी के आधार पर यह मिलेगा। इसे पीएम किसान एफपीओ योजना 2020 नाम दिया गया है। माना जा रहा है कि इससे किसानों की स्थिति सुधर सकती है। सरकार इस योजना पर 2024 तक 6,865 करोड़ रुपए खर्च करेगी।

योजना का मकसद क्या है?

किसानों को आर्थिक राहत पहुंचाने के लिए केंद्र सरकार ने इसे शुरू किया है। ताकि आप बिचौलियों से मुक्त हो सकें। इसका मतलब फॉर्मर प्रोड्यूसर ऑर्गनाइजेशंस (एफपीओ) यानी किसान उत्पादक संगठन है।

15 लाख रुपए किसे मिलेंगे?

15 लाख रुपए के लिए आपको एक एफपीओ बनाना होगा। इसमें किसानों का ग्रुप होगा। इसी ग्रुप को यह 15 लाख रुपए मिलेगा। इस ग्रुप में कम से कम 11 किसान होने चाहिए। इन 11 को या तो संगठन या फिर कंपनी बनानी होगी।

यह पैसा एक साथ मिलेगा?

नहीं, यह पैसा तीन साल के भीतर मिलेगा। यानी इसका मतलब यह है कि आपको कई चरण में मिलेंगे।

इससे क्या लाभ होगा?

इस योजना में जो भी ग्रुप का किसान होगा उसे कई तरह का लाभ मिलेगा। देश के किसानों को खेती में बिजनेस की तरह लाभ दिया जाएगा। किसानों को खेती को बिजनेस के रूप में बदलने का अवसर दिया जा रहा है।

क्या केवल एग्री कंपनी बनाने से 15 लाख मिलेगा?

नहीं, 11 किसानों को एग्री कंपनी बनाने के बाद उसे कंपनी एक्ट के तहत रजिस्टर्ड कराना होगा। जो भी प्रोड्यूसर हैं उनके लाभ के लिए इस कंपनी को काम करना होगा। इसी तरह के संगठनों को 15-15 लाख रुपए मिलेंगे।

किस राज्य को यह लाभ मिलेगा?

देश के सभी राज्यों के किसानों को इसका लाभ मिलेगा। आप चाहे किसी भी राज्य में हों, संगठन बना सकते हैं। अगर किसान मैदानी इलाके के हैं तो 300 किसानों को अपने साथ जोड़ना होगा। अगर पहाड़ी एरिया जैसे उत्तराखंड या कहीं और के हैं तो फिर 100 किसानों को जोड़ना होगा।

आवेदन कैसे करें?

अभी तक सरकार ने रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया शुरू नहीं की है। इसलिए कुछ समय बाद सरकार जब पूरी तरह से इसे शुरू करेगी तभी आप इसके लिए आवेदन कर सकते हैं। जल्द ही इसका नोटिफिकेशन आ सकता है।

0



Source link

Leave a Reply

Most Popular

महंगाई से राहत नहीं: रसोई गैस के दाम 25 रुपए बढ़े, इस साल अब तक 125 रुपए महंगा हुआ सिलेंडर

Hindi NewsBusinessGas Cylinder Price Hike LPG Cylinder Becomes Expensive Domestic Gas Cylinder Increased By Rs 25Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के...

महिलाओं में Heart Disease से मौत के खतरे को कम करता है Plant-based diet

नई दिल्ली: प्लांट बेस्ड डाइट का अर्थ हुआ पौधों से मिलने वाली चीजों को अपनी डाइट में शामिल करना. इसमें फल और सब्जियों...

Recent Comments

Live Updates COVID-19 CASES
%d bloggers like this: